copyright. Powered by Blogger.

आस्था और चाँद / हाइकु

>> Friday, 2 November 2012



चौथ का चाँद 
आँखों में  उतरता 
प्रेम दर्शाये । 





देखा जो चाँद 
धरती के चाँद ने 
मन हर्षाया । 




उठी निगाहें 
चाँद की प्रतीक्षा में 
करें अर्चना । 





नेह बंधन 
स्वीकारें  मन से 
चाँद है साक्षी । 




बिना प्रेम के 
परंपरा के लिए 
न करो व्रत । 




मन की आस्था 
चाँद  में निहारती 
उम्र पति की .




45 comments:

प्रवीण पाण्डेय Fri Nov 02, 09:13:00 am  

प्रेम की सुदृढ़ परम्परा..

Dr.NISHA MAHARANA Fri Nov 02, 09:32:00 am  

km shabdon men badi-badi baaten ...bahut acchi abhiwayakti .....

प्रतिभा सक्सेना Fri Nov 02, 10:09:00 am  

संगीता जी ,और तो सब बढ़िया पर उनकी तो मौज ,सिर्फ़ पानी पिला कर छुट्टी पा लेंगे !

रश्मि प्रभा... Fri Nov 02, 10:15:00 am  

प्रेम है तो प्रेम सा चाँद है पूजा है कामनाएं हैं ...

वन्दना Fri Nov 02, 11:20:00 am  

वाह बहुत खू्बसूरत हाइकू………करवा चौथ की हार्दिक शुभ कामनाएं

minoo bhagia Fri Nov 02, 11:53:00 am  

karva chauth ki hardik shubhkamnayein

वाणी गीत Fri Nov 02, 12:51:00 pm  

नेह बंधन
स्वीकारें मन से
चाँद है साक्षी ।
सच्ची बात !
बेहतरीन !

पी.एस .भाकुनी Fri Nov 02, 01:10:00 pm  

चाँद की खूबसूरती को चुनौती देते ये हाईकू ..............

पी.सी.गोदियाल "परचेत" Fri Nov 02, 02:27:00 pm  

देखा जो चाँद
धरती के चाँद ने
मन हर्षाया ।

बहुत सुन्दर, वैसे धरती पर दो चाँद होते है :)

संध्या शर्मा Fri Nov 02, 03:16:00 pm  

बहुत खू्बसूरत...करवा चौथ की हार्दिक शुभकामनाएं...

Sadhana Vaid Fri Nov 02, 03:53:00 pm  

बहुत ही सुन्दर सार्थक सामयिक हाईकू ! आनंद आ गया ! करवा चौथ की आपको भी हार्दिक शुभकामनायें !

lokendra singh Fri Nov 02, 04:00:00 pm  

बहुत सुन्दर... पति-पत्नी के प्रेम को व्यक्त करती हाइकू

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) Fri Nov 02, 04:30:00 pm  

करवाचौथ की हार्दिक मंगलकामनाओं के साथ आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि-
आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार (03-11-2012) के चर्चा मंच पर भी होगी!

सदा Fri Nov 02, 04:42:00 pm  

उठी निगाहें
चाँद की प्रतीक्षा में
करें अर्चना ।
वाह ... क्‍या बात है सभी हाइकू जबरदस्‍त

सादर

shikha varshney Fri Nov 02, 04:44:00 pm  

व्रत की पूरी व्याख्या कर दी छोटे छोटे हाइकू में.

kshama Fri Nov 02, 05:07:00 pm  

Chaand to jabtak duniya hai,bana rahega...aastha to toot jaatee hai...maloom nahee padta kab!

dheerendra bhadauriya Fri Nov 02, 05:56:00 pm  

व्याख्या करती चित्रमय उत्कृष्ट हाइकू,,,
करवाचौथ की बहुत बहुत शुभकामनाएं,,,,,

RECENT POST : समय की पुकार है,

Virendra Kumar Sharma Fri Nov 02, 07:22:00 pm  


मन की आस्था
चाँद में निहारती
उम्र पति की .


भाव वेणी गूंथ दी ,



सप्राण प्रिय

हो कल्याण .

Amrita Tanmay Fri Nov 02, 07:43:00 pm  

स्निग्ध उजाला लिए हृदय तक पहुँचता हायकू ..

डॉ टी एस दराल Fri Nov 02, 08:28:00 pm  

अति सुन्दर .
पर्व की शुभकामनायें.

डॉ. मोनिका शर्मा Fri Nov 02, 10:35:00 pm  

बहुत ही सुंदर स्नेहभरे हाइकु.....

मनोज कुमार Sat Nov 03, 08:58:00 am  

समसामयिक उत्सव के साथ आपने कई जगह नीति की बात भी की है। अच्छा लगा।
बधाई, शुभकामनाएं।

अरुण कुमार निगम (mitanigoth2.blogspot.com) Sat Nov 03, 09:50:00 am  

की है चंदा ने सदा , पूरी सबकी चाह
निर्मल निश्छल प्रेम का,बनकर रहा गवाह
बनकर रहा गवाह ,तभी तो पूजा जाता
बचपन से वृद्धावस्था तक साथ निभाता
पर्वों की सौगात , हमें चंदा ने दी है
पूरी सबकी चाह , सदा चंदा ने की है ||

Anita Sat Nov 03, 12:28:00 pm  

बनी आईना..
बसे मोरी अँखियाँ...
आज 'दो' चाँद ! :)

हार्दिक शुभकामाएँ !
~सादर !!!

Kunwar Kusumesh Sat Nov 03, 12:34:00 pm  

अरे वाह,करवा चौथ पर हाइकू।क्या बात है।

महेन्द्र श्रीवास्तव Sat Nov 03, 12:44:00 pm  

बहुत सुंदर
मन को छूने वाली बातें

राजेश उत्‍साही Sat Nov 03, 07:17:00 pm  

प्रेम है
तो कैसा व्रत
कैसा त्‍यौहार
प्रेम ही तो व्रत है
प्रेम ही तो है त्‍यौहार
बिना प्रेम सब बेकार

sushila Sat Nov 03, 10:08:00 pm  

बहुत सुंदर हाइकु ! यह तो अति सुंदर -


देखा जो चाँद
धरती के चाँद ने
मन हर्षाया ।

expression Sat Nov 03, 11:36:00 pm  

वाह दी

बहुत सुन्दर हायकू...
सभी एक से बढ़ कर एक..

सादर
अनु

रचना दीक्षित Sun Nov 04, 05:23:00 pm  

चाँद को करवा चौथ पर हायकू के माध्यम से बहुत खूबसूरती से पेश किया आपने संगीता दी. करवा चौथ की शुभकामनाएँ और आभार इस प्रस्तुति के लिये.

नादिर खान Mon Nov 05, 05:36:00 pm  

लाजवाब हाईकु सभी एक से बढ़कर एक
साथ में उम्दा नसीहत भी है

बिना प्रेम के
परंपरा के लिए
न करो व्रत ।

Swati Vallabha Raj Tue Nov 06, 11:00:00 am  

बहुत हीं प्यारे हाइकु है...

ashish Wed Nov 07, 10:34:00 am  

सुन्दर हायकू , अभिभूत करते हुए

Suman Wed Nov 07, 12:15:00 pm  

बिना प्रेम के
परंपरा के लिए
न करो व्रत ।
sarthak ....

Mukesh Kumar Sinha Sat Nov 10, 07:52:00 pm  

karwachauth ko bhi di aapne haiku me bandh diya...:)

आशा जोगळेकर Sun Nov 11, 09:49:00 pm  

बिना प्रेम के
परंपरा के लिए
न करो व्रत ।

सही कहा । करवा चौथ पर सुंदर हाइकू ।

Dr (Miss) Sharad Singh Wed Nov 21, 11:57:00 am  

बहुत सुन्दर...

दिगम्बर नासवा Sat Dec 08, 02:26:00 pm  

प्रेम के आलोकिक बंधन को छलकाते सुन्दर हाइकू ...

About This Blog

Labels

Lorem Ipsum

ब्लॉग प्रहरी

ब्लॉग परिवार

Blog parivaar

हमारी वाणी

www.hamarivani.com

लालित्य

  © Free Blogger Templates Wild Birds by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP