copyright. Powered by Blogger.

साहिल

>> Thursday, 23 October 2008

हर हंसीं पल में मेरे तू शामिल है ,
मेरे दिल का भी बस तू ही कातिल है ,
तू ही मेरे सीने में दिल बन के धड़कता है,
इन मौजे - लहरों का तू ही साहिल है.

1 comments:

taanya Mon Oct 27, 09:31:00 am  

हर हंसीं पल में मेरे तू शामिल है ,
मेरे दिल का भी बस तू ही कातिल है ,
तू ही मेरे सीने में दिल बन के धड़कता है,
इन मौजे - लहरों का तू ही साहिल है.

bas hansi palo me shamil karoge hame?
ye baat keh katal karoge hame..??
sine me dil ban k dhadke to kya..
mauz-e-lehro k sahil bane bhi to kya..
gamo me to akele rehte ho tum
bas hansi palo ka sathi banate ho tum..!!

About This Blog

Labels

Lorem Ipsum

ब्लॉग प्रहरी

ब्लॉग परिवार

Blog parivaar

हमारी वाणी

www.hamarivani.com

लालित्य

  © Free Blogger Templates Wild Birds by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP